Zerodol P Tablet in hindi:  फायदे, नुकसान, सावधानियां, और इस्तेमाल का तरीका

 Zerodol P Tablet in hindi:  फायदे, नुकसान, सावधानियां, और इस्तेमाल का तरीका

Zerodol P एक ऐसी दवा है जो डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन देने पर ही ली जाती है और आप इसे ऑवर दा काउंटर दवा की तरह कभी भी इस्तेमाल नहीं करना चाहिए.  दवा का इस्तेमाल ज्यादातर आमतौर पर हड्डियों, जोड़ों, दांत दर्द , मासिक धर्म में हुए दर्द, मांसपेशियों और कान के दर्द, सूजन और दूसरी अन्य स्थितियों, समस्याओं, लक्षणों और कारणों के इलाज के लिए किया जाता है.Zerodol P दवा में २ मुख्य साल्ट पाए जाते हैं जो हैं एस्क्लोफेनाक (Aceclofenac)और पैरासिटामोल (Paracetamol). पैरासिटामोल एक एंटीपायरेटिक दवा है जिसका इस्तेमाल बुखार के लिए किया जाता है और सेराटीयोपेप्टिडेज एक एंजाइम है जिसका काम सूजन को कम करना है.

दवाई का नाम Zerodol P
मैन्युफैक्चररइप्का लेबोरेटरीज लिमिटेड
साल्टएसिक्लोफेनाक (100 एमजी) +पैरासिटामोल (500 एमजी)
मूल्यRs. 60 For 10 Tablets in 1 Strip

Zerodol P दवा कब दी जाती है? When to use Zerodol P Medicine in hindi?

कुछ ऐसी अवस्था जिसमें Zerodol P दवा दी जा सकती है वह है;

1. दर्द निवारक की तरह

  • Zerodol P टैबलेट को दर्द होने की स्थिति में लिया जा सकत अहै. यह गठिया, जोड़ों के स्प्रेन, मांसपेशियों के चोट और दर्द से होने वाली  सूजन और दर्द  को कम करता है. Zerodol P टैबलेट का उपयोग दांत निकालने और रूट कैनाल उपचार जैसी दांतों की प्रक्रियाओं के द्वारा होने वाले दर्द को नियंत्रित करने के लिए भी किया जाता है। इस दवा को सर्जिकल दर्द का उपचार करने में भी प्रभावी पाया गया है.

2. मांसपेशियों को रिलैक्स करने के लिए

  • Zerodol P टैबलेट में एक प्रभावी मांसपेशियों को रिलैक्स करने वाली दवा की तरह इस्तेमाल की जा सकती है इसलिए इसे सार्पोग्रेलेट कहा जाता है और ये  मांसपेशियों के स्पैस्म को राहत देने के लिए सेंट्रल नर्वस सिस्टम पर  (सीएनएस) पर कार्य करता है. इससे स्पैस्म के लिए जिम्मेदार कुछ केमिकल को बनने से रोक्त अहै और इससे मांसपेशियों के दर्द से छुटकारा मिल जाता है. 

3. ऑस्टियोआर्थ्राइटिस

  • Zerodol P टैबलेट को ऑस्टियोआर्थ्राइटिस के इलाज के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है. यह प्रभावित एरिया से दर्द, सूजन और जकड़न को कम करने में मदद करता है. इसके अलावा ये  दवा गठिया, अंक्यलोजिंग स्पॉन्डिलाइटिस और अन्य संबंधित स्थितियों जैसे गउट, ल्यूपस और सोरियाटिक आर्थ्राइटिस के कारण जोड़ों और मांसपेशियों में जकड़न को कम करने में मदद करता है.

4. रूमेटॉइड आर्थराइटिस

  • Zerodol P जोड़ कार्य को सुधार सकता है क्योंकि इसमें मजबूत प्रभावी प्रॉपर्टीज हैं और यह शरीर में सूजन को कम कर सकता है.

5. अंक्यलोजिंग स्पॉन्डिलाइटिस

  • अंक्यलोजिंग स्पॉन्डिलाइटिस एक ऐसी बीमारी है जिसमें सूजन हो जाती है शरीर पर. साथ ही इस सूजन की वजह से बहुत ज्यादा दर्द भी होता है.Zerodol P इस स्थिति को कम करने के लिए प्रभावी रूप से इस्तेमाल किया जा सकता है जो इस स्थिति के साथ सूजन और दर्द को कम करने में मदद करता है.

Zerodol P का इस्तेमाल कैसे करें? How to Use Zerodol P Medicine in hindi?

Zerodol P एक ऐसी दवाई है जिसे डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन के बाद ही लेना चाहिए. कभी भी खुद से इसकी डोज ना लें.यह दवा लेने से पहले डॉक्टर से संपर्क करें और अपने सभी सवाल अच्छी तरह से पूछ लें. साथ ही पैकेट पर दी गई इंस्ट्रक्शन को अच्छे से पढ़ने के बाद ही ये दवा लें.

बड़े लोगों के लिए इस दवा की सुबह और शाम दो डोज लेने की सलाह दी जाती है. साथ ही जरुरी है कि आप इस दवा के साथ अच्छी तरह से पानी पिएं. अगर आपको लग रहा है कि आपको Zerodol P की खुराक कम या ज्यादा करनी है तो इसके लिए डॉक्टर से संपर्क करें.

इस दवा की पूरी टेबलेट पानी के साथ लें, इसे तोड़ कर इस्तेमाल ना करें. साथ ही बच्चों को भूल कर भी यह दवाई खुद से ना दें. इसके साइड इफेक्ट्स बड़ी जल्दी हो सकते हैं.

इसके अलावा उम्र के हिसाब से इसका खुराक और लेने का तरीका अलग अलग हो सकते हैं.

बीमारीअधिकतम मात्राकैसे लेंअवधिखाने से पहले या बाद मेंदवा प्रकारकितनी बार लें
बुजुर्गऑस्टियोआर्थराइटिस 1ओरलडॉक्टर की सलाह अनुसारखाने के बादटेबलेटदो बार
एडल्टऑस्टियोआर्थराइटिस 1ओरलडॉक्टर की सलाह अनुसारखाने के बादटेबलेटदो बार
बच्चाऑस्टियोआर्थराइटिस 1ओरलडॉक्टर की सलाह अनुसारखाने के बादटेबलेटदो बार

Zerodol P Tablet Dosage डोज / खुराक लेते समय क्या रखें ध्यान में

Zerodol p Tablet का उपयोग शरीर में दर्द और गठिया से संबंधित समस्याओं के इलाज के लिए किया जाता है.जैसा कि बताया गया है इसकी रोगी की उम्र, बीमारी के हिसाब से अलग अलग खुराक दी जाती है. 

  • Zerodol P एक टैबलेट बेस दवा है और इसे डॉक्टर के बताए अनुसार ही लेना चाहिए।
  • रोजाना 1-2 गोली से ज्यादा यह नहीं लेनी चाहिए.
  • बच्चों को दवा देने से पहले हेमशा डॉक्टर की सलाह लें और बच्चे की मेडिकल हिस्ट्री भी डॉक्टर को बताएं.
  • बेहतर परिणाम पाने के लिए इसे रोजाना नियमित समय अंतराल पर लें.
  • एक ही समय में दो खुराक न लें, इसके साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं. 
  • खुराक छूट जाने की स्थिति में अगली खुराक याद आते ही तुरंत लेनी चाहिए.
  • टैबलेट को पानी के साथ या चिकित्सक द्वारा बताए अनुसार लिया जा सकता है।

Read More: Benefits of Norflox TZ Tablet| Benefits of Sinarest Tablet in Hindi| Uses of Chymoral Forte Tablet in Hindi?

Zerodol P दवा कैसे काम करती हैं? How does Zerodol P Medicine Work in hindi?

Zerodol P टैबलेट सूजन और दर्द से राहत देती है. इसमें पाए जाने वाले  Aceclofenac और Paracetamol दर्द और बुखार को कम करने में मदद करते है .

Zerodol P दवा के साइड इफेक्ट्स? Side-effects of Zerodol P Tablet in hindi?

जैसा कि बताया गया है Zerodol P दवा हमेशा डॉक्टर की सलाह पर ही लेनी चाहिए. जब आप Zerodol P का सेवन कर रहे होते हैं, तो आपके डॉक्टर आपका ब्लड प्रेशर और हार्ट रेट मॉनिटर करते हैं उसके बाद ही यह दवा आपको दी जाती है. अगर रीडिंग में  कुछ गड़बड़ है तो आपको दवा नहीं दी जाती है. साथ ही आपको पहले से ब्लड प्रेशर या दिल से जुड़ी कोई बीमारी है तो पहले डॉक्टर को जरुर बता दें नहीं तो यह दवा आपके लिए हानिकारक साबित हो सकती है. निम्नलिखित कुछ साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं, जो आपको अनुभव हो सकते हैं। अगर इनमें से कोई भी साइड इफेक्ट जारी रहता है या तंग करता है, तो आपको अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट को बताना चाहिए:

  •  चक्कर आना जेरोडोल पी का एक सबसे आम साइड इफेक्ट है. इसके कारण आपका ब्लड प्रेशर और हार्ट रेट दोनों ही बढ़ सकते हैं.
  •  सिरदर्द इसका एक और सामान्य साइड इफेक्ट है. इसकी वजह से भी  यह रक्तचाप या हृदय दर बढ़ सकते हैं.
  •  मतली और उल्टियां भी सामान्य साइड इफेक्ट हैं, विशेषकर जब आप जेरोडोल पी लेना शुरू करते हैं, यह आपके पेट में  एसिड (पीएच) का उत्पादन बढ़ा देता है जिसकी वजह से  होता है, जिससे मतली और उल्टियाँ हो सकती हैं।
  •  टॉयलेट में खून आना भी इसके कुछ दुर्लभ साइड इफेक्ट्स में से एक है.
  •  मूत्र के रंग या मात्रा में परिवर्तन; त्वचा या स्क्लेरा (आंख का सफेद हिस्सा) में असामान्य पीला रंग
  •  खांसी, बेचैनी, सांस की तकलीफ
  •  चक्कर, झुकने पर सिरदर्द, झट से खड़े होने पर चक्कर
  •  मुंह सुखना, किसी चीज का स्वाद ना आना, गर्दन में दर्द और सूजन और उसकी वजह से खाना या पानी निगलने में परेशानी होना इसके कुछ साइड इफेक्ट्स हैं.

Zerodol P के साइड इफेक्ट्स होने से कैसे बचाएं – How to avoid side effects of Zerodol P

Zerodol P के कुछ लक्षण के बारे में हमने जानकारी ली है. इनसे बचने के लिए नीचे कुछ उपाय दिए गए हैं;

जी मचलाना और उल्टी:

  • अगर आपको दवा लेकर उल्टी जैसा लगता है तो Zerodol P हमेशा खाना खाने के बाद ही खाएं. ये दवाई लेते हुए एकदम सादा डाइट लें जो आपके पेट के लिए भारी ना हो. साथ ही अगर आप रोजाना एक्सरसाइज करते हैं और यह दवा लेने वाले हैं तो ज्यादा एक्सरसाइज ना करें.

दस्त या डायरिया से बचने के लिए:

  • Zerodol P के साइड इफेक्ट्स से बचने के सबसे रामबाण उपाय है कि आप ज्यादा से ज्यादा पानी पिएं. साथ ही अगर आपको दस्त हो जाते हैं तो उसका इलाज करने के लिए इस दवा के साथ किसी और दवा का इस्तेमाल ना करें. यदि लक्षण बढ़ते हैं, तो अपने डॉक्टर से परामर्श करें और उन्हें सूचित करें.

पाचन संबंधी समस्याएं:

  • इससे बचने के लिए एक साथ ज्यादा खाना ना खाएं. थोड़ा थोड़ा डाइट लें  और पानी भी धीरे धीरे लें. इसके अलावा Zerodol P के साथ कभी भी शराब या सिगरेट का सेवन ना करें. ऐसा करने से इसके साइड इफेक्ट्स बढ़ सकते हैं.

चक्कर:

  • आराम करें और पर्याप्त नींद ले. यह दवा लेने के बाद बहुत ज्यादा काम करने से बचें

किन लोगों को Zerodol P नहीं लेनी चाहिए – Who should not take Zerodol P in hindi?

Zerodol P के बारे में एक बात हमेशा ध्यान रखें कि इसे कभी भी खुद से ना लें. साथ ही कुछ लोगों को ये दवा लेने से परहेज करना चाहिए, जैसे कि

  • अगर आपको अलसर हैं तो यह दवा लेने से परहेज करें.
  • अगर आपको अस्थमा जैसी बीमारी है तो यह दवा ना लें.
  • अगर आपको असक्लोफेंनक, पेरासिटामोल सा Zerodol-P से एलर्जी है तो यह दवा ना लें. 
  • लीवर और किडनी के रोगियों को यह दवा साइड इफ़ेक्ट कर सकती है.
  • अस्थमा, सांस लेने में दिक्कत होने या फिर किसी तरह की दिल की परेशानी होने पर Zerodol-P ना लें.
  • हाइपरसेंसिटिविटी
  • हाइपरटेंशन
  • अगर आपको पहले कभी हार्ट अटैक हुआ है तो यह दवा ना लें.
  • स्तनपान करवाने वाली महिलाएं. यह दवा दूध के जरिए बच्चे के शरीर में जाकर साइड इफेक्ट्स ला सकती है.
  • प्रेगनेंट महिलाओं को भी यह दवा बिलकुल नहीं लेनी चाहिए. अगर गलती से आप आखिरी तिमाही में यह दवा लेते हैं तो बच्चे में कुछ ना कुछ शारीरिक दिक्कत होने का डर रहता है.

साथ ही अगर आप ऐसा काम करते हैं जहां आप भारी मशीन चलाते हैं तो यह दवा लेने के बाद आपको चक्कर जैसा महसूस हो सकता है और कभी कभी नज़र भी धुंधली हो सकती है. इसलिए यह दवा लेने के बाद कोशिश करें कि आप आराम करें.

 Zerodol P दवा का मैन्युफैक्चरर – Manufacturer of Zerodol P drug

IPCA LABORATORIES PVT LTD

FAQ (Frequently Asked Question of Zerodol-P in hindi)

Q1.Zerodol P टैबलेट के एंटी-इन्फ्लैमेटरी एलिमेंट क्या है?

  • इस दवा में  पैरासिटामोल पाया जाता है.

Q2.क्या Zerodol-P एक एंटीबायोटिक है ?

  • नहीं, Zerodol-P एक एंटी-इन्फ्लेमेटरी दवा है और एंटीबायोटिक नहीं है. इसलिए ही इसका इस्तेमाल बुखार में नहीं किया जाता है.

Q3.क्या Zerodol-P  एक सेफ दवा है?

  • हालांकि Zerodol-P एक कॉमन एंटी-इन्फ्लेमेटरी दवा है लेकिन फिर भी इसके साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं इसलिए इसे डॉक्टर की सलाह पर ही लेना चाहिए.

Q4.क्या किसी पेनकिलर दवाई के साथ Zerodol-P का इस्तेमाल किया जा सकता है?

  • नहीं, Zerodol-P के साथ पेनकिलर का उपयोग करने से लिवर या किडनी की समस्याओं के चांसेस बढ़ जाते हैं।

Q5.क्या Zerodol-P का इस्तेमाल आप लंबे समय तक कर सकते हैं?

  • नहीं, यह दवा आपको डॉक्टर द्वारा सुझाए गए दिनों तक ही लेनी चाहिए.

Q6.क्याZerodol-P का इस्तेमाल प्रेगनेंसी में कर सकते हैं?

  • प्रेगनेंसी में Zerodol-P के कई साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं. इसे कभी भी बिना डॉक्टर की सलाह के प्रेगनेंसी में नहीं लेना चाहिए. इससे अजन्मे बच्चे के शरीर में विकार भी हो सकते हैं.

Q7.क्याZerodol-P का इस्तेमाल ब्रैस्ट फीड करवाने वाली महिला कर सकती है?

  • स्तनपान कराने वाली महिलाओं को Zerodol-P लेने के बाद कई तरह के साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं और साथ ही यह बच्चे के लिए भी बुरी हो सकती है. डॉक्टर से बातचीत करने के बाद ही यह दवा लें. यह दवा दूध के जरिए बच्चे के शरीर में जाकर गलत असर कर सकती है.

Q8.Zerodol P का प्रभाव किडनी पर क्या होता है?

  • Zerodol SP से किडनी पर काफी गलत असर हो सकता है. अगर आपको पहले से किडनी से जुड़ा कोई रोग है तो यह दवा लेने से परहेज करें.

Q9.Zerodol P का लीवर पर क्या प्रभाव पड़ता है?

  • Zerodol SP से लीवर पर गंभीर असर हो सकता है. अगर आपको भी इसके साइड इफेक्ट देखने को मिलें तो आप दवा का सेवन न करें और इस बारे में डॉक्टर से पूछें. साथ ही कभी भी अल्कोहल के साथ ये दवा ना खाएं. इससे आपका लीवर और ज्यादा खराब हो सकता है.

Q10.क्या ह्रदय पर Zerodol-P का प्रभाव पड़ता है?

  • हृदय परZerodol-P का हानिकारक प्रभाव पड़ सकता है, अगर आप दिल की बीमारी से पीड़ित हैं तो यह दवा ना लें. इसके साइड इफ़ेक्ट के तौर पर भी आपकी हार्ट रेट बहुत ज्यादा बढ़ सकती है.

Dr L K Garg

https://www.drlkgarg.com/

Dr L.K Garg is a senior consultant pediatrician & Neonatologist in Agra. He has an experience of more than 12years in the field of pediatrics and is highly recommended in the city.

Related post